शलगम के फायदे | Tumip Benefits in hindi

 

शलजम की  गिनती मशहूर सब्जियों में होती है। शलजम मूली गाजर यदि के तरह एक कंद है। और यह कन्दो की तरह जड़ से प्राप्त होती है। यह सर्दियों की एक मनपसंद फायदेमंद सब्जी है।सलजम एक जड़ की सब्जी है।इसका आकार चुकंदर के सामान कुछ गोल एव आगे से नुकेले होते हैं।जिसके ऊपर पत्ते का गुच्छा होता है। इसकी रंग सफेद मगर इसका छिलका सुरखा होता है। इसकी पत्तियां में अन्य सब्जियों से अपेक्षा कैल्शियम की मात्रा काफी होती है।

 

1. गाजर मूली तथा टमाटर के साथ शलजम का सलाद खाने से शलजम की सब्जी बनाकर खाने से कमजोरी दूर होती हैं।

2. जिन बच्चे की हड्डियां कमजोर होती है उन्हें गाजर तथा सर्जन के रस पिलाने से हड्डियां मजबूत होती है।

3. शलजम का सेवन करने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है।

4. अपच तथा पाचन शक्ति की विकारों में शलजम लाभकारी है

5. बिबाई फटना  पानी में शलजम उबालकर उस पानी से बिबाइयो को धोये तथा उन्हें उबले टुकड़ों को ही रगड़ कर रात को सोते समय कपड़ा लपेट लें 1 सप्ताह में ही पैर चिकने हो जाएंगे

6. सज्जन को पानी में उबालकर उसमें शक्कर मिलाकर पीने से खांसी में फायदा होता है।

7. कच्चे शलजम चबाकर खाने से दांत मसूड़े मजबूत होते तथा दांतों में चमक आ जाती है मसूड़े की खून आना रुकता है।

8. शलजम काटकर 1 लीटर पानी में उबालें बुलबुल ना रहने पर हाथ पर उस पानी में कुछ समय तक डुबोकर रखें सर्दियों में उंगलियां सूजने पर इससे सूजन कम हो जाएंगी

9. संगम का किसी भी रूप में प्रयोग गले के लिए लाभदायक है संजना को पानी में उबालकर उस पानी में चीनी मिलाकर गरमा-गरम पिए बैठा गला खुल जाएगा

10. मधुमेह प्रतिदिन शलजम की सब्जी या कच्चा सलाद खाने से मधुमेह में रोगी को लाभ होता है।

11. शलजम पत्ता गोभी सेम तथा गाजर का रस मिलाकर सुबह-शाम पीने से दमा में फायदा होता है।

12. प्रतेक दिन कच्ची शलजम खाने से दस्त लगा हुआ जल्आदी ठीक हो जाता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *