पेशाब में जलन के कारण और उपचार : Peshab Me Jalan Ke Karan Aur Upchar

पेशाब में जलन के कारण

पेशाब में जलन होना एक सामान्य बात है। यह किसी भी अवस्था में, किसी भी आयु के व्यक्ति को हो सकती है। पेशाब की जलन प्रमुख रूप से तेज मिर्च मसालेदार भोजन के सेवन, गरिष्ठ भोजन, मध व मांस के अधिक सेवन तथा खान-पान में अनियमितता के कारण होती है।

उपचार

सेव : नियमित सेवन के सेवन से पेशाब में जलन नहीं होती।

आंवला : एक छटांक हरे आंवले का रस आधा छटांक शहद या शक्कर मिलाकर सुबह-शाम पीएंं। इस खुराक को नियमित क्रमानुसार लेने से खुलकर पेशाब आता है व पेशाब की जलन समाप्त हो जाती है।

फालसा : फालसा शरीर के दूषित मल को शरीर से बाहर निकाल देता है। इसका रस या शरबत पीने से पेशाब की जलन समाप्त हो जाती है।

अनार : अनार के सेवन से पेशाब की जलन खत्म हो जाती है तथा मूत्र खुलकर आने लगता है।

तरबूज : ओस में रखे हुए तरबूज का रस निकालकर प्रातः शक्कर मिलाकर पीने से पेशाब की जलन समाप्त हो जाती है।

ईसबगोल : तीन चम्मच ईसबगोल की भूसी को एक गिलास पानी में भिगो दें। इस पानी में स्वादानुसार शक्कर या बूरा डालकर पीने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है।

बादाम : गर्मी के कारण भी पेशाब में जलन होने लग जाती है। ऐसे समय में बादाम, खसखस और गुलाब के फूलों को पीसकर ठंडाई बना लें। इस ठंडाई में मिश्री मिलाकर पीने से शरीर का दाह भी समाप्त होता है और पेशाब की जलन भी। इस ठंडाई मे 5 – 6 इलायची भी पीसकर डाल दें तो दोहरा फायदा होगा।

नीबू : पेशाब में जलन होने पर दोपहर के समय एक गिलास ठंडे पानी में नींबू निचोड़ कर दो चम्मच शक्कर घोल लें व पी जाएं। इस प्रयोग से जलन बंद हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.