मुंह में छाले होने के कारण, लक्षण और उपचार : Munh Me Chhale Hone Ke Karan Lakshan Aur Upchar

मुंह मे छाले के कारण व लक्षण

मुंह में छाले हो जाना एक आम व्याधि हैं, यह एक साधारण किंतु बेहद कष्टकारी रोग है। यह रोग प्रमुखतया कब्ज के कारण होता हैं। इसके अलावा अधिक मिर्च मसाला, तले भुने पदार्थ तथा जलजीवों के अधिक सेवन से भी मुहं मे छाले हो जाते हैं। जीभ, तालू और होठों मे छोटी छोटी लाला रंग की फुसियां उत्पन्ना हो जाती हैं। जिसमें तेज जलन व सुइयां चुभने जैसे अनुभव होने लगता हैं। रोग की गंभीर अवस्था में मुहं मे सूजन आ जाती हैं।

उपचार

नीबू : मुंह के छाले को ठीक करने के लिए नीबू का अत्यधिक मात्रा में सेवन करें। अर्थात 4 – 5 नीबू प्रतिदिन सेवन करें। छाले होने पर गर्म पानी मे नीबू मिलाकर गरारे करें। इससे काफी लाभ होता है।

केला : मुंह में छाले होने पर एक केला दही के साथ प्रातः काल सेवन करने से मुहं व जीभ के छाले दूर हो जाते हैं।

शहतूत : एक चम्मच शहतूत का शरबत एक कपा पानी में मिलाकर गरारे करें। मुहं के छाले को ठीक करने हेतु यह असरदार उपाय है।

अनन्नास : छाले होने पर अन्नानास खाने से लाभ होता हैं।

गाजर : नियमित रूप से गाजर का रस पीने से मुख के छाले मे काफी लाभ होता हैं।

बेल : बेल का गूदा निकालकर 100 ग्राम पानी में उबालकर कुल्ले करने से छाले दब जाते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.