मासिक धर्म बंद होने के कारण लक्षण और उपचार : Masika Dharm Band Hone Ke Karan Lakshan Aur Upchar

मासिक धर्म बंद होने के कारण

मासिक धर्म का बंद होना किसी गंभीर व्याधि का कारण बन सकता है। मासिक धर्म बंद होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे हार्मोन्स का असंतुलन, गर्भनिरोधक गोलियों का अत्यधिक सेवन, दर्द व उन्मादनाशक नाशक रसायनों का से व्यापक सेवन, क्षयरोग होना तथा थकान। मासिक धर्म कई प्राकृतिक कारणों जैसे गर्भ धारण व आयु बढ़ना से भी बंद हो सकता है।

लक्षण

आयु से पहले मासिक धर्म बंद हो जाना इस रोग का एकमात्र लक्षण है। इससे शरीर में व्यापक कमजोरी आ जाती है तथा थकान का जल्दी अनुभव होने लगता है।

उपचार

गाजर : यदि मासिक धर्म बंद हो गया हो तो दो चम्मच गाजर के बीज और एक चम्मच गुड़ को एक गिलास भर पानी में उबालकर प्रतिदिन सुबह-शाम गर्म – गर्म पिएंं।

शरीफा : बंद माहवारी को खोलने के लिए शरीफे के बीजों की गिरी को योनि में रखने से काफी लाभ होता है।

गाजर के बीज : गाजर के बीज पानी के साथ शिल पर पीसकर कपड़े से छान लें। इसके पीने से बंद हुआ मासिक धर्म खुलकर आता है।

पपीता : कच्चे पपीते की यह विशेषता होती है कि इसके सेवन से गर्भाशय की मांसपेशियों में काफी बल मिलता है। इसके साथ ही मासिक स्त्राव ठीक से होने लगता है।

बादाम : एक बादाम और एक छुहारे को रात्रि के समय पानी में भिगो दें। सुबह इन दोनों को पीसकर मक्खन, मिश्री के साथ मिलाकर 3 माह तक नियमित रूप से खाएं। इससे मासिक धर्म खुलकर आने लगेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.