लौकी के फायदे-loki ke fayde-in hindi

 

लौकी आसानी से उपलब्ध होने वाली सब्जी भारत में सभी जगह पर इसकी खेती की जाती है लौकी अपने आप से औषधीय गुणों से भरपूर होने के साथ-साथ भोजन में रुचि भी उत्पन्न करती है। साथ ही अनेक रोगों में लाभकारी भी होती है।

 

1. एक लौकी का गुदा निचोड़ को उस का रस निकालकर मिश्री डालकर पीने से पीलिया ठीक हो जाता है।

2. लौकी को बुलबुले मैं भूल कर उस का रस निकालकर 20 ग्राम रस में मिश्री मिलाकर दिन में 1 बार कुछ दिन पीने से जिगर की गर्मी पीलिया आदि रोग समाप्त हो जाते हैं।

3. मूत्र विकार लौकी की सब्जी खाने से सभी मूत्र विकार दूर हो जाते है।और साथ ही साथ पथरी निकल जाती है।

4. अनिद्रा लोकी का रस तिल के तेल में मिलाकर मध्य पर लगाने से अनिद्रा रोग दूर होता है।

5. मुंह से खून गिरने पर लौकी का छिलका सुखा कर पीसकर मिश्री मिलाकर सुखा ले। 5 से 6 ग्राम मात्रा सुबह-शाम ताजा पानी के साथ एक माह तक लेते रहने से खांसी के साथ खून आना रुक जाता तथा फेफड़े के विकास में भी लाभ होता है।

6. खूनी दस्त होने पर लौकी का छिलका धूप में सुखाकर बारीक पीस लें 5 ग्राम चूर्ण शाम को ताजा पानी के साथ दिन तक लेने से खूनी दस्त बवासीर में लाभ होता है।

7.  मस्तिक के लिए लौकी की खीर बनाकर मिश्री डालकर खाने से मस्तिष्क के रोग में लाभ होता है।तथा याददाश्त भी बढ़ता है

8. छोटे बच्चे के कान में दर्द हो तो कच्ची लोकी का रस और मां का दूध संभाग मिलाकर गुनगुना गर्म करके एक से दो बूंद कानों में डालकर रुई का फाहा लगा देने से दर्द जाता रहता है।

9.प्यास लगने पर लौकी का सेवन करने से बार-बार प्यास नहीं लगती है।

10. तलवों में जलन होने पर लौकी के गूदे को पांव के तलवे पर मलने से जलन से राहत मिलती और गर्मी का बुखार भी उतर जाता है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *