कील मुंहासे के कारण,लक्षण और उपचार : Kil Munhase Ke Karan Lakshan Aur Upchar

कील मुंहासे के कारण व लक्षण

युवावस्था की ओर अग्रसर युवाओं के लिए कील व मुहासे की समस्या आम बात है। यह रोग त्वचा में स्थित सीबेशस ग्रंथियों द्वारा स्रावित सीबम नामक तैलीय स्त्राव के कारण उत्पन्न होता है। किशोरावस्था में शरीर में हुए परिवर्तन इस ग्रंथियों को उत्तेजित कर देते हैं, जिससे सीबम के स्त्राव में वृद्धि हो जाती है। त्वचा में जगह-जगह सीबम का जमाव होने लगता है व त्वचा सूजने लग जाती है। यही सीबम वायु के संपर्क से काला पड़ जाता है और कील का रूप धारण कर लेता है। इससे त्वचा में निशान भी बन जाते हैं।

उपचार

नीबू : नींबू त्वचा संबंधित रोग के लिए भी अन्य रोग की ही भांति सटीक औषधि है। कील मुंहासे होने पर नींबू के रस में उससे 4 गुना ग्लिसरीन मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरा निखर जाता है।

एक चम्मच मलाई में लगभग आधा नीबू निचोड़ कर चेहरे पर मलहम की तरह मलने से कील मुंहासे दूर हो जाते हैं।

केवल नींबू के रस को चेहरे पर लगाने से भी कील मुहांसे पर चमत्कारी असर होता है।

जयाफल : जयाफल को कच्चे दूध के किसी पत्थर पर इतना घिस लें। कि उसका मुंह पर लेप किया जा सके। मुंह पर लेप करने में थोड़ी देर बाद इसे सूखने दें। फिर हाथ से रगड़ कर उबटन की तरह छुड़ा ले और गुनगुने पानी से मुंह धोकर पोंछ ले। दिन में एक-दो बार इस क्रिया को करने से ही मुंहासे दूर हो जाते हैं। चाहे तो जायफल को घिसकर रात को सोते समय मुहांसे पर लेप कर ले। लेप करने के तत्काल बाद इसे धो देना चाहिए। इस प्रयोग से भी कील मुंहासे व काले दाग मिट जाते हैं।

खुबानी : खुबानी के अनेक भाग सुंदर प्रसाप्रसाधक के रूप में प्रयोग में लाए जाते हैं। देश-विदेश मे प्राकृतिक वस्तुओं से बनाए जाने वाले सौंदर्य प्रसाधक तत्वों में खुबानी को विशेष स्थान प्राप्त है। चेहरे पर होने वाले कील मुंहासे के लिए खुबानी के गूदे को मास्क के रूप में प्रयोग किया जाता है।

पपीता : कच्चे पपीते का रस निकालकर चेहरे पर लगाने से कील मुंहासों में पसा नहीं पड़ता तथा वे सूख कर समाप्त हो जाते हैं।

संतरा : संतरे के छिलके का पाउडर तैयार करके हमेशा घर में रखे। कील मुहासे मिटाने के लिए इस पाउडर को गुलाब जल में घोलकर लेप लगा लें। रात को चेहरे पर लेप लगाकर सो जाएं और सुबह धो लें। यह प्रयोग कुछ ही दिन तक करने पर चेहरा मुहांसों से मुक्त हो जाएगा।

मूंगफली : मूंगफली के तेल से यदि नियमित चेहरे पर मालिश की जाए तो कील मुंहासे होना बंद हो जाते है।

नारियल : नारियल का पानी दिन में दो-तीन बार चेहरे पर लगाते रहने से कील मुहासे समाप्त हो जाते हैं।

बादाम : बादाम के पत्तों को पीसकर मुंहासों पर लगाने से काफी लाभ मिलता है। इसी प्रकार बादाम के छिलकों को महीन पीसकर पानी में घोलकर चेहरे पर लेप करें। इससे भी कील मुंहासे दूर हो जाते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.