खुजली के कारण, लक्षण और उपचार : Khujli Ke Karan Lakshan Aur Upchar

खुजली के कारण व लक्षण

दाद, खाज अथवा एग्जीमा हो जाने या त्वचा के किसी संक्रमण से ग्रस्त होने के कारण त्वचा में खुजली हो जाना आम बात है। कभी कभी धूप में ज्यादा रहने से भी त्वचा में खुजली होने लग जाती है। एलर्जी की वजह से भी खुजली हो जाती हैं।

लक्षण

त्वचा में खुजली होने से त्वचा पर चकत्ते हो जाते हैं, कभी-कभी बेहद तेज खुजली होती है और बच्चों को खुजलाने से रोकना कठिन हो जाता है। त्वचा भी विकृत हो जाती है व उसमे फुंसियां भी उभर आती हैं।

उपचार

नारियल : 50 ग्राम नारियल के तेल में दो नींबू का रस मिलाकर शरीर की मालिश करें। खुजली मिट जाएगी।

20 ग्राम नारियल के तेल में एक ग्राम कपूर मिलाकर बदन पर मलें। इससे सारे बदन में उठने वाली खुजली ठीक हो जाएगी।

नाशपाती : नाशपाती का तेल त्वचा संबंधी रोगों में लाभदायक रहता है इसे मलने से त्वचा की खुजली समाप्त हो जाती है।

संतरा : संतरा छीलकर अलग रख दीजिए और उसके छिलकों को सील पर पानी के साथ पीसकर खुजली वाले हिस्से पर मल दीजिए। अब हाथ धोकर संतरे की फांक खोलकर उसमें जीरा रख दीजिए और चबाइए। खुजली समाप्त हो जाएगी।

नींबू : गर्म पानी में नींबू निचोड़कर नहाने से खुजली मिट जाती है।

यदि खुजली मे दाने हो तो नारियल के तेल में नींबू डालकर गर्म कर लें व शरीर पर मलें।

नीबू में फिटकरी का चूर्ण भरकर खुजली वाले स्थान पर रगड़े, खुजली समाप्त हो जाएगी।

केला : केले के गूदे को नींबू के रस में पीसकर खुजली वाले स्थान पर लगाएं। इससे काफी लाभ होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.