खाँसी के घरेलू नुक्से/ Home remedies for cough

छोटे बच्चों को किसी भी मौसम में खांसी हो जाना साधारण बात है स्कूल जाने वाले बच्चे स्कूल के बाहर मिलने वाली दूसरी चीजें खाते हैं तो खांसी से पीड़ित होते हैं शीत ऋतु में सर्दी के प्रकोप से जुखाम खांसी की विकृत होती है खट्टे मीठे चटनी व इमली खाने से भी खांसी हो सकती है कोई भी घी तेल मक्खन से बनी चीज खाकर अचानक पानी पी लेने से तुरंत खांसी होती है कुछ बच्चे चाट पकौड़ी आलू की टिकिया समोसे आदि खाने इसके बाद पानी पीते हैं तो उन्हें खांसी हो जाती है सर्दी के मौसम में मूंगफली अखरोट बादाम चिलगोजे वापिस था खाकर पानी पीने से तुरंत खांसी होती है

कुछ लोगों को बुखार के साथ खांसी की उत्पत्ति होती है जैसे कि टाइफाइड, ब्रोकाइटिस ,निमोनिया, खसरा ,इंफ्लुएंजा ,आदि लोगों के साथ खांसी की विकृत होती है बच्चों को कभी शुष्क और कभी कफ खांसी होती है शुष्क खांसी मैं देर तक खांसने पर भी कम नहीं निकलता सर्दी लगने पर खांसी होने पर बच्चों को बहुत पीड़ा होती है देर तक खांसने से पेट में दर्द होने लगता है खांसी से परेशान होकर छोटे बच्चे रोने लगते हैं कुछ बच्चों को निरंतर खांसने से वमन भी हो सकता है।खाँसी होने पर बच्चों को धूल और मिट्टी व धुंए से दूर रखना चाहिए।

  • गुणकारी औषधीय उपयोग

1. अदरक के 3 ग्राम रस में मधु मिलाकर बच्चे को चटाने से खांसी का प्रकोप शांत होता है।

2. तुलसी के पौधे की मंजूरी को पीसकर प्याज का रस और सोंठ का बारीक चूर्ण रोगी बच्चे को मधु मिलाकर दिन में दो तीन बार चढ़ाने से खांसी शांत होती है।

3. सुहागे को तवे पर भूनकर किसी खरल में पीसकर उसमें वंशलोचन मिलाकर रखें 2 ग्राम मिश्रण में मधु मिलाकर दिन में दो से तीन बार चटाने से खांसी का प्रकोप कम होता है।

4. पान के रस में मधु मिलाकर दिन में 1 से 2 बार चटाने से खांसी का अंत होता है ।

5.बच्चों को खांसी होने पर उनकी छाती और कमर पर कपूर को पीसकर तेल में मिलाकर मालिश करने से खांसी का प्रकोप कम होता है।

6. तुलसी के पत्तों का रस निकालकर उसमें मिश्री मिलाकर बच्चों को दिन में एक से दो बार चटाने से खांसी की विकृत नष्ट होती है।

7. 5 ग्राम मधु में लहसुन के रस की दो से तीन बूंदे मिलाकर बच्चे को चटाने से खांसी का निवारण होता है।

8.मुलेठी का छोटा सा टुकड़ा मुंह में रखकर चूसने से खांसी का प्रकोप शांत होता है।

9 मुरेठी का चूर्ण मधुमेह मिलाकर चाटने से खांसी नष्ट होती है।

10.केले के सूखे पत्तों को मिट्टी के पात्र में रखकर आग पर गर्म करके भस्म बना ले उस भस्म को खरल में पीसकर रखें 2 से 3 रत्ती मात्रा में भस्म लेकर उसमे मधु मिलाकर 2 से 3 बार चटाने से खांसी का प्रकोप खत्म हो जाता है।

11.सितोपलादि का चूर्ण 2 ग्राम मात्रा में मधु मिलाकर चटाने से खांसी नष्ट होती है इसे दिन में 2 से 3 बार चटाना चाहिए ।

12.काली मिर्च और सोंठ को बराबर मात्रा में लेकर कूट- पीसकर चूर्ण बनाकर रखें इस चूर्ण को 2 ग्राम मात्रा में मधु मिलाकर दिन में 2 से 3 बार चटाने से खांसी का निवारण होगा ।

13.तुलसी के पत्तों का रस और अडूसो के पत्तों का रस 3-3 ग्राम मात्रा में मिलाकर बच्चों को चटाने से खांसी का प्रकोप शांत होगा ।

14.बेलगिरी को छाया में सुखाकर, कूट – पीसकर चूर्ण बना लें । 50 ग्राम चूर्ण में 50 ग्राम मिश्री और 10 ग्राम वंशलोचन मिलाकर किसी खरल में पीस लें 3 ग्राम चूर्ण मिलाकर बच्चे को चढ़ाने से खांसी का प्रकोप नष्ट होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *