फुलगोभी के फायदे – fulgobhi ke fayde-in hindi

 

गोभी फूल शीत ऋतु की सब्जी है। पूरे विश्व में सामान्य शीत ऋतु में ही मुख्य रूप से गोभी खाई जाती है। फूलगोभी अनेक गुणों से भरपूर है। गोभी का कच्चा खा कर अनेक रोगों से बचा जा सकता है।गोभी का फसल ठंड एवं नमी वातावरण में अच्छी होती है। गोभी के पौधे  एक डेढ़ फुट ऊंचे होते हैं। इसके पत्ते बड़े बड़े होते हैं। जिनके बीच में गोभी का फल लगा रहता है।इसकीअसली घर दक्षिण यूरोप और मध्य प्रदेश में है।

 

गोभी के औषधीय उपयोग निम्न प्रकार से है-

1. कैंसर में प्रातः खाली पर लगभग 100 ग्राम गोभी का रस पीने से कैंसर में लाभ होता है।

2. पेट का अल्सर- भोजन करने के बाद दिन में तीन से चार बार तीन से छह बार गोभी का रस पी चार  से 5 बार कच्ची गोभी खाएं तो पेट में अल्सर के रोग में फायदा होता है।

3. तपेदिक- उबले फूलगोभी कर रस पिलाने से ही भी बी के रोगी का हृदय मजबूत होने लगता है और खून बढ़ता है।

4. दन्तविष- आपस में लड़ते समय बच्चे एक दूसरे को काट ले तो उन्हें 4 से 5 दिन तक कच्ची गोभी खिलाएं इससे दातों का विष दूर हो जाता है।

5. श्रयरोग- कच्ची फूलगोभी खाने में रोगी को खांसी में खून आना बंद हो जाता है।

6. चरम रोग-इसके नियमित सेवन से खून साफ और चरम रोग मिलते हैं।

7. जोड़ों का दर्द- गोभी का रस पीते रहने से जोड़ों का हड्डियों का दर्द दूर होता है।

8. बवासीर- फूलगोभी का सेवन करने से रोग में लाभ होता है।

9. नेत्रज्योतिवर्धक- फूल गोभी के निर्मित प्रयोग से आंखों की कमजोरी दूर होती है।

10. चोट एवं जलन जख्म पर- गोभी के पत्ते का गर्म पानी में धोकर उन्हें कपड़े से सुखाकर चोटिया जख्म पर लगाने से फायदा होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *