चौलाई के फायदे -cholaai ke fayde-in hindi

पत्तेदार हरी सब्जियों में मेथी पालक के सामान चलाई भी एक महत्वपूर्ण जी यह एक बारहमासी भाजी है इसका प्रयोग भी बहुत प्यार से किया जाता है विभिन्न गुणों से भरपूर ए पत्तेदार हरी सब्जी औषधि जिसके सेवन से विभिन्न शारीरिक बीमारियां दूर हो जाती है।सारे भारत में चौलाई का साग समान रूप से पैदा होता है।

 

1. रात को चौलाई का साग खाने से कब्ज दूर होती है।

2. सेहत प्रदर चौड़ाई के रस में शहद और मिश्री मिलाकर पीने से तुरंत लाभ होता है।

3. रोजाना चौलाई की सब्जी का सेवन करने से बाल झड़ना रुक जाता है।

4. चौलाई का रस ढाई 150 से मिली एक माह तक पीते रहने से बाल झड़ना बंद होकर नए बाल उगने लगते हैं।

5. चौलाई की जड़ को बाल कर काढ़ा बनाकर पीने से ज्वर में लाभ होता है।

6. आग में जल जाने पर जले हुए स्थान पर चौराहे का रस लगाने से तुरंत जलना बंद हो जाती है तथा जल जाने के कारण हुए गांव में लाभ होता है।

7. आधासीसी का दर्द चौलाई का जरा मासी संभाग लेकर पानी में पीस लें फिर इसे देसी घी में पानी सूखने तक पकाएं बाद में इस मिश्रण को कई बार चूसने से दर्द समाप्त हो जाता है।

8. चलाई के पत्ते का राजा था सा के लगातार प्रयोग से पेट की पथरी गल कर मूत्र के साथ खुलकर निकल जाती है।

9. जीने मासिक धर्म आने में कठिनाई हो या फिर आने मति हो रोज एक कब चलाई का रस नमक डालकर पीने से लाभ होगा

10. पागल कुत्ते काटने पर चलाई की जड़ को पीसकर पानी के साथ दिलाने तथा कटे हुए स्थान पर चलाई के जड़ का चूर्ण लेप करने से रोगी को लाभ मिलता है।

11. नकसीर में चलाई के ताजा हरे पत्ते के सामने उनकी पत्तियों को पीसकर कनपटी पर लेप करने से नाक से रक्त  गिरना रूक जाता है।

12. मुंह में छाले हो जाने पर चोला ही का भाजी मुंह के छाले ठीक करती है।

13 चौलाई का रस पीने से पीलिया में लाभ होता है।

14. बुढ़ापा में चौलाई का साग का प्रयोग करते रहने से असमय बुढ़ापा नहीं आता

15. आई कमजोरी दूर करने के लिए चलाई के रस का सेवन करने से लाभदायक होता है

16. बच्चे को जन्म के 15 दिन बाद आधा चम्मच और आईकासा करा साथ मिलाकर देने से बच्चे का शरीर का विकास अच्छी तरह से होने लगता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *