छीकें आने के कारण लक्षण और उपचार : Chike Ane Ke Karan Lakshan Aur Upchar

छीकें आने के कारण व लक्षण

सर्दी लग जाने पर छींके आना स्वाभाविक है, कई बार नाक मे धूल के कण चलें जाने पर भी छींके आ जाती हैं। छींके रोकनी नहीं चाहिए।यह हानिकारक होता है।

उपचार

नीबू : एक नीबू को मोटे कपड़ें मे लपेटकर ऊपर से मिट्टी का लेप कर दें और इसे मंद आंच मे अच्छी तरह सेकें। गर्म – गर्म ही चूस लें, छीकें आना बंद हो जाएंगी।

एक गिलास कुनकुने पानी में नीबू का रस व शहद मिलाकर पीने से छीकें आना बंद हो जाती हैं।

सेव : पके हुए सेव का रस पीने से छीको मे राहत मिलती हैं।

अंगूर : छींके ज्यादा आ रही हो तो 200 ग्राम अंगूर खाएं, राहत मिलेगी।

गाजर : गाजर का रस पीने से छींके आना बंद हो जाती हैं।

अदरक : अदरक चूसने से गले की खराश व छींके आना दूर हो जाता हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.