बथुआ के फायदे-bathuaa ke fayde-in hindi

बथुआ एक ऐसा साग है। जिसे प्रिय सभी लोग सब्जी बनाने में प्रयोग करते हैं।और भारत में सभी पसंद करते हैं। खेतों में यह अपने आप उगता है। इसके अलावा सब्जियों की खेती करने वाले लोग अपने खेतों में इसकी बीज फसल भी उगाते हैं। बथुआ गंध हीन सीधा या झुका हुआ पौधा होता है। इसका पौधा लगभग 2 फुट ऊंचा होता है।इसका पत्ते तिनकोड केआकार में होते है ।तथा छोटे-छोटे नुकेले एवं कई प्रकार के होते हैं। डंडे के अंत में बारीक पुष्प और बीच कोषों के गुच्छे लगते हैं।

बथुआ खाने के गुणकारी उपयोग

1. कब्ज दूर करने के लिए कुछ सप्ताह तक रोजाना बथुआ की सब्जी खाने से पुराना कब्ज दूर हो जाता है।

2. जुए- बथुए में उबालकर पानी से सिर धोने से जुड़े लिख मर जाती है तथा बालों की खुश्की दूर हो जाती है।

3. नेत्र रोग दिन बथुआ की सब्जी का सेवन करने से आंखों की सूजन लाली तथा आंखों से पानी आना आदि नेत्र रोग दूर होते हैं।

4. उधर व्याधिया बथुआ का रस अथवा बथुआ उबला पानी पीने से गैस बनना बवासीर उदरमें लाभ मिलता है।

5.  मूत्रवरोध प्रातः दिन बथुआ का रस पीने से मूत्र के रोग खत्म होते है। तथा पेशाब खुलकर आता है।

6. चर्म रोग बथुआ के रस में तिल्ली का तेल मिलाकर  उबालें जब पानी जल जाए और तेल शेष रह जाए तब उतार लें। और इसका तेल को चरम रोग पर लगाने से लाभ होता है।

7. मूत्र रोग बथुआ के रस में नींबू जीरा काली मिर्च नमक मिलाकर पीने से सभी प्रकार के मूत्र रोग समाप्त हो जाते हैं।

8. मानसिक धर्म अवरोध मासिक धर्म खुलकर ना आता हो तो रुका हुआ हो तो बथुआ के पानी में उबालकर छानकर पीने से लाभ होता है।प्रातः दिन बथुआ को सब्जी खाने से भी लाभ होता है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *