बाल काले करने के कारण लक्षण और उपचार : Bal Kale Karane Ke karan Lakshan Aur Upchar

बाल काले करने के कारण व लक्षण

सफेद बालों को काला करने के लिए बाजार में कई रासायनिक पदार्थ व लेप मिलते हैं, जिनका लोग खास उपयोग करते हैं। यह रासायनिक पदार्थ बालों को काला तो कर देते हैं लेकिन इसके कई अन्य हानिकारक लक्षण भी प्रकट होते हैं। जिनमें नेत्रज्योति में कमी या आंखों से संबंधित बीमारीयां तथा त्वचा संबंधी बीमारियां प्रमुख है।

उपचार

नारियल : नारियल के तेल में ताजे आंवले काटकर डाल दें। आंच पर तब तक पकाएं जब तक आंवले के टुकड़े जल कर काले न हो जाएंं। अब इस तेल को छानकर बोतल में भर ले। स्नान के बाद बालों को अच्छी तरह सुखा कर इसे उनकी जड़ों में लगाएं। कुछ ही दिनों में बाल काले होने लग जाएंगे।

नींबू : नींबू के रस में पिसा हुआ सूखा आंवला मिलाकर बालों पर लेप करने से बाल काले हो जाते हैं।

आंवला : लगभग 25 ग्राम आंवला, आधा चम्मच काफी व 50 ग्राम मेहंदी के मिश्रण को दूध में भिगोकर बालों में लगाएं। 1 घंटे तक इसे बालों में लगा रहने दें, फिर सिर धोएं। ऐसा सप्ताह में दो बार करें। सफेद खिचड़ी बाल भी प्राकृतिक काले हो जाएंगे।

आंवला तथा लोहा का चूर्ण पानी में पीसकर बालों में लगाने से सफेद बाल काले हो जाते हैं।

आंवला व शिकाकाई 25-25 ग्राम की मात्रा में लेकर रात को भिगो दें। प्रातः इन्हे पीसकर बालों पर लगाएं। कुछ देर बाद पानी से धोकर नारियल का तेल लगाएं। इससे सफेद बाल काले हो जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.